कोनसा मुहावरा हमारी रोज़ की जिंदगी पे सटीक बैठता है ?

नमस्कार दोस्तों
कैसे हैं आप सब।हम आशा करते हैं कि आप सब ठीक हैं और आपकी सेहत और सपनो के लिए भगवान् से प्राथर्ना करते हैं।आज से हम अपनी वेबसाइट पे एक और नयी चीज़ करने जा रहे हैं।आज से आपको यहाँ इंग्लिश के साथ साथ हिंदी में भी पड़ने का अवसर मिलेगा।आज उसी कड़ी में हम मुहावरा शुरू कर रहे हैं।शायद आपको पसंद आये।अगर आये तो कमेंट बॉक्स में जरूर बताईएगा।

आज का मुहावरा

दोस्तों अक्सर हम हर रोज़ एक चीज़ का अनुभव करते हैं। जब भी हमें कोई मुश्किल आती है तो हम उसका हल ढूंढें में बहुत देर लगाते हैं। क्यूंकि हमें आदत है इधर उधर झाँकने की जिसमे कोई गलत नहीं है।पर अगर मुश्किल का हल हम पास से ढूंढने की कोशिश करें तो कैसा रहेगा?
और ये होता भी है।अक्सर हमें सब पता होता है पर क्यूंकि हमें खुद पे विश्वास नहीं होता।इसी की वजह से हम इधर उधर देखते हैं की शायद कोई हल निकल आयेऔर बाद में पता लगता है की ये तो मुझे पता था।

एक उधारण लेते हैं।

कोई चीज़ जब खो जाती है तो हम क्या करते हैं. इधर उधर सर पटके हैं।फिर वो चीज़ हमें अपनी बगल में ही मिलती है।तो मतलब चीज़ पास में ही है बस हमने ही नहीं देखा। शायद हमने आदत बना ली है।
तो दोस्तों खुद पे विश्वास रखें किसी भी चीज की जो शुरुआत होती है वो आपसे ही होती है। तभी तो ये मुहावरा कहा गया है कि

Downloading

यानी कि चीज पास में है और पूरे मोहल्ले में शोर मच गया कि चीज गुम गई है,मिल नहीं रही।

दोस्तों आज के लिए इतना ही। उम्मीद है आपको ये मुहावरों की श्रृंखला पसंद आएगी।हम हर रोज़ बेहतर होने की कोशिश करते रहेंगे। उम्मीद है आपका प्यार बना रहे।

आपका दिन शुभ हो हम ये उम्मीद करते हैं।

धन्यवाद।

We will be happy to hear your thoughts

      Leave a reply

      Daily Check - In
      Logo